चारधाम यात्रा मार्ग पर 184 चिकित्सकों की तैनाती, मेडिकल प्वाइंट भी बनाए गए

देहरादून, 14 मई (आईएएनएस)। उत्तराखंड में चारधाम यात्रा जारी है। इसी बीच मंगलवार को देहरादून सचिवालय में स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर राजेश कुमार से पब्लिक रिलेशन सोसाइटी ऑफ इंडिया के पदाधिकारियों और सदस्यों ने मुलाकात की।

इस दौरान स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर राजेश कुमार ने कहा कि इस साल चारधाम यात्रा में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती जा रही है। जो एक चुनौती की तरह है।

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से चारधाम यात्रा में आने वाले सभी श्रद्धालुओं को सारी स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जा रही है। पिछले साल चारधाम यात्रा में 55 साल से अधिक वर्ष के साढ़े सात लाख श्रद्धालुओं की स्वास्थ्य जांच की गई थी। इस बार हमारा लक्ष्य 50 वर्ष से अधिक के लोगों की ज्यादा से ज्यादा स्वास्थ्य जांच करने का है।

इस बार चारधाम यात्रा मार्ग पर 184 चिकित्सकों की तैनाती की गई है, जिसमें 44 स्पेशलिस्ट चिकित्सक शामिल हैं। पिछले साल चारधाम यात्रा में 140 डॉक्टरों को तैनात किया गया था। इसके अलावा पिछले साल पहली बार यात्रा में तैनात चिकित्सकों के साथ ही पैरा मेडिकल स्टाफ को एनएचएम के माध्यम से मानदेय की व्यवस्था की गई थी। इस बार भी यह व्यवस्था जारी रखी जा रही है।

जानकी चट्टी में पहली बार मेडिकल प्वाइंट बनाया गया है। चारधाम यात्रा मार्ग पर हमेशा से सुपर स्पेशलिएटी सेंटर का अभाव रहा है। इस बार श्रीनगर मेडिकल कॉलेज में कैथ लैब शुरू की गई है। ‘यू कोट वी पे’ योजना के जरिए नए सुपर स्पेशलिएटी को अपनी सेवाएं देने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। कुल 11 भाषा में यात्रा संबंधी एसओपी जारी की गई है।

–आईएएनएस

स्मिता/एकेएस

E-Magazine